MONTHLY BULLETIN OF CITY MONTESSORI SCHOOL, LUCKNOW, INDIA

Personality Development

CMS creates a better future for all children by maximising
their opportunities through quality education and initiatives for unity and development.

CMS to observe Valentine’s Day as Family Unity Day (For more details click here)

February 2018

बोर्ड परीक्षाओं में शामिल होने वाले छात्र-छात्राओं के लिए विशेष लेख

बोर्ड परीक्षाओं का तनाव लेने के बजाय छात्र खुद पर रखें विश्वास!

- डाॅ. जगदीश गाँधी, संस्थापक-प्रबन्धक, सिटी मोन्टेसरी स्कूल, लखनऊ

(1) बोर्ड परीक्षाओं का तनाव लेने के बजाय छात्र खुद पर रखें विश्वासः-

प्रायः यह देखा जाता है कि बोर्ड की परीक्षाओं के नजदीक आते ही छात्र-छात्रायें एक्जामिनेशन फीवर के शिकार हो जाते हैं। ऐसे में शिक्षकों एवं अभिभावकों के द्वारा बच्चों के मन-मस्तिष्क में बैठे हुए इस डर को भगाना अति आवश्यक है। वास्तव में बच्चों की परीक्षा के समय में अभिभावकों की भूमिका ज्यादा महत्वपूर्ण हो जाती है। एक शोध के अनुसार बच्चों के मन-मस्तिष्क पर उनके अभिभावकों के व्यवहार का सर्वाधिक प्रभाव पड़ता है। ऐसी स्थिति में अभिभावकों को बच्चों के साथ दोस्तों की तरह व्यवहार करना चाहिए ताकि उनमें सुरक्षा की भावना और आत्मविश्वास बढ़ें। इस प्रकार बच्चों का मन-मस्तिष्क जितना अधिक दबाव मुक्त रहेगा उतना ही बेहतर उनका रिजल्ट आयेगा और सफलता उनके कदम चूमेगी।

(2) बस्वस्थ शरीर में स्वस्थ मस्तिष्क निवास करता हैः-

किसी ने बिलकुल सही कहा है कि एक स्वस्थ शरीर में स्वस्थ मस्तिष्क निवास करता है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों एवं डाक्टरों के अनुसार प्रतिदिन लगभग 7 घण्टे बिना किसी बाधा के चिंतारहित गहरी नींद लेना सम्पूर्ण नींद की श्रेणी में आता है। एक ताजे तथा प्रसन्नचित्त मस्तिष्क से लिये गये निर्णय, कार्य एवं व्यवहार अच्छे एवं सुखद परिणाम देते हैं। थके तथा चिंता से भरे मस्तिष्क से किया गया कार्य, निर्णय एवं व्यवहार सफलता को हमसे दूर ले जाता है। परीक्षाओं के दिनों में संतुलित एवं हल्का भोजन लेना लाभदायक होता है। इन दिनों अधिक से अधिक ताजे तथा सूखे फलों, हरी सब्जियों तथा तरल पदार्थो को भोजन में शामिल करें।

(3) अपने लक्ष्य का निर्धारण स्वयं करें और देर रात तक पढ़ने से बचेंः-

एक बार यदि हमें अपना लक्ष्य ज्ञात हो गया तो हम उस लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए अपनी पूरी ताकत लगा देंगे। यदि हमारा लक्ष्य परीक्षा में 100 प्रतिशत अंक लाना है तो पाठ्यक्रम में दिये गये निर्धारित विषयों के ज्ञान को पूरी तरह से समझकर आत्मसात करना होगा। इसके साथ ही रात में देर तक पढ़ने की आदत बच्चों को नुकसान पहुँचा सकती है। मनोवैज्ञानिकों के अनुसार प्रातःकाल का समय अध्ययन के लिए ज्यादा अच्छा माना जाता है। सुबह के समय की गई पढ़ाई का असर बच्चों के मन-मस्तिष्क पर देर तक रहता है। इसलिए बच्चों को सुबह के समय से अधिक से अधिक पढ़ाई करनी चाहिए। रात में 6-7 घंटे की नींद के बाद सुबह के समय बच्चे सबसे ज्यादा शांतिमय, तनाव रहित और तरोताजा महसूस करते हैं।

(4) अपने मस्तिष्क की असीम क्षमता का सदुपयोग करें व लिखकर याद करने की आदत डालेंः-

प्रत्येक मनुष्य की स्मरण शक्ति असीमित है। आइस्टीन जैसे महान वैज्ञानिक तथा एक साधारण व्यक्ति के मस्तिष्क की संरचना एक समान होती है। केवल फर्क यह है कि हम अपने मस्तिष्क की असीम क्षमताओं की कितनी मात्रा का निरन्तर प्रयास द्वारा सदुपयोग कर पाते हैं। इसलिए छात्रों को अपने पढ़े पाठों का रिवीजन पूरी एकाग्रता तथा मनोयोगपूर्वक करके अपनी स्मरण शक्ति को बढ़ाना चाहिए। एक बात अक्सर छात्र-छात्राओं के सामने आती है कि वो जो कुछ याद करते हंै वे उसे भूल जाते हैं। इसका कारण यह है कि छात्र मौखिक रूप से तो उत्तर को याद कर लेते हैं लेकिन उसे याद करने के बाद लिखते नहीं है। कहावत है एक बार लिखा हुआ हजार बार मौखिक रूप से याद करने से बेहतर होता है। ऐसे में विद्यार्थी को अपने प्रश्नों के उत्तरों को लिखकर याद करने की आदत डालनी चाहिए।

(5) सफलता की एकमात्र कुंजी निरन्तर अभ्यास, अभ्यास और अभ्यास ही हैः-

किसी ने सही ही कहा है कि ‘करत-करत अभ्यास से जड़मत होत सुजान, रसरी आवत जात है सिल पर पड़त निशान’ अर्थात् जिस प्रकार एक मामूली सी रस्सी कुएँ के पत्थर पर प्रतिदिन के अभ्यास से निशान बना देती है उसी प्रकार अभ्यास जीवन का वह आयाम है जो कठिन रास्तों को भी आसान कर देता है। इसलिए अभ्यास से कठिन से कठिन विषयों को भी याद किया जा सकता है। इस प्रकार सफलता की एकमात्र कुंजी निरन्तर अभ्यास, अभ्यास और अभ्यास ही है। विशेषकर गणित तथा विज्ञान विषयों में यदि आप अपना वैज्ञानिक एवं तार्किक दृष्टिकोण विकसित नहीं कर पाये तो आप सफलता को गवां सकते हैं। इसलिए इन विषयों के सूत्रों को अच्छी तरह से याद करने के लिए इन्हें बार-बार दोहराना चाहिए और लगातार इनका अभ्यास भी करते रहना चाहिए। दीर्घ उत्तरीय पाठ/प्रश्नों को एक साथ याद न करके इन्हें कई खण्डों में याद करना चाहिए। बार-बार अभ्यास करने से कठिन से कठिन चीजें भी याद रखी जा सकती हैं।

(6) सम्पूर्ण पाठ्यक्रम का अध्ययन जरूरी हैः-

सिर्फ महत्वपूर्ण प्रश्नों की तैयारी करने की प्रवृत्ति आजकल छात्र वर्ग में देखने को मिल रही है जबकि छात्रों को अपने पाठ्यक्रम का पूरा अध्ययन करना चाहिए और इसे अधिक से अधिक बार दोहराना चाहिए। अगर छात्रों का लक्ष्य 100 प्रतिशत अंक अर्जित करना है तो परीक्षा में आने वाले सम्भावित प्रश्नों के उत्तरों की तैयारी तक ही अपना अध्ययन सीमित न रखकर सम्पूर्ण पाठ्यक्रम का अध्ययन करना चाहिए। जो छात्र पाठ्यक्रम के कुछ भागों को छोड़ देते हैं वे परीक्षा में असफलता का मुँह देख सकते हंै।

(7) उच्च कोटि की सफलता के लिए समय प्रबन्धन जरूरीः-

परीक्षा में प्रश्न पत्र हाथ में आते ही सबसे पहले छात्र को सरल प्रश्नों को छांट लेना चाहिए। इन सरल प्रश्नों को हल करने में पूरी एकाग्रता के साथ अपनी ऊर्जा को लगाना चाहिए। छात्र को प्रश्न पत्र के कठिन प्रश्नों के लिए भी कुछ समय बचाकर रखने का ध्यान रखना चाहिए। चरम एकाग्रता की स्थिति में कठिन प्रश्नों के उत्तरों का आंशिक अनुमान लग जाने की सम्भावना रहती है। प्रायः देखा जाता है कि अधिकांश छात्र अपना सारा समय उन प्रश्नों में लगा देते हैं जिनके उत्तर उन्हें अच्छी तरह से आते हैं। तथापि बाद में वे शेष प्रश्नों के लिए समय नहीं दे पाते। समय के अभाव में वे जल्दबाजी करते प्रायः देखे जाते हैं और अपने अंकों को गॅवा बैठते हैं। परीक्षाओं में इस तरह की गलती न हो इसके लिए माॅडल पेपर के एक-एक प्रश्न को निर्धारित समय के अंदर हल करने का निरन्तर अभ्यास करते रहना चाहिए।

(8) सुन्दर लिखावट, सही स्पेलिंग तथा विराम चिन्हों का प्रयोगः-

आपकी उत्तर पुस्तिका को चैक करने वाले परीक्षक पर सबसे पहला अच्छा या बुरा प्रभाव आपकी लिखावट का पड़ता है। परीक्षक के ऊपर सुन्दर तथा स्पष्ट लिखावट का बहुत अच्छा प्रभाव पड़ता है। परीक्षक के पास अस्पष्ट लिखावट को पढ़ने का समय नही होता है। अतः परीक्षा में उच्च कोटि की सफलता के लिए अच्छी लिखावट एक अनिवार्य शर्त है। सही स्पेलिंग तथा विराम चिन्हों का सही उपयोग का ज्ञान होना हमारे लेखन को प्रभावशाली एवं स्पष्ट अभिव्यक्ति प्रदान करता है। भाषा का सही प्रस्तुतीकरण छात्रों को अच्छे अंक दिलाता है। विशेषकर भाषा प्रश्न पत्रों में सही स्पेलिंग अति आवश्यक है। इसी प्रकार विराम चिन्हों का सही उपयोग भी अच्छे अंक अर्जित करने के लिए जरूरी है।

(9) प्रवेश पत्र के साथ ही परीक्षा के लिए उचित सामान सुरक्षित रखेंः-

बोर्ड परीक्षाओं के छात्रों को रोजाना घर से परीक्षा केन्द्र जाने के पूर्व अपने प्रवेश पत्र को सावधानीपूर्वक रखने की बात को जांच लेना चाहिए। बोर्ड तथा प्रतियोगी परीक्षाआंे आदि के लिए प्रवेश पत्र जरूरी कागजात हंै। हमें यह बात भली प्रकार स्मरण रखनी चाहिए कि प्रवेश पत्र के खो जाने से परीक्षा कक्ष में प्रवेश करने से हम वंचित हो सकते हंै। परीक्षा के समय अच्छे पेन, पेन्सिल, स्केल, रबर, कलाई घड़ी आदि का अत्यन्त महत्व है। परीक्षा में उपयोग होने वाली सभी जरूरी सामग्रियाँ अच्छी क्वालिटी की हमारे पास अतिरिक्त मात्रा में होना जरूरी है। किसी प्रकार की अपत्तिजनक वस्तु के आसपास पड़े होने की स्थिति में उसकी सूचना कक्ष निरीक्षक को तुरन्त देनी चाहिए।

(10) प्रश्न पत्र के निर्देशों को भली-भाँति समझ लें और उत्तर पुस्तिका को जमा करने के पूर्व उसे चेक अवश्य करेंः-

छात्रों को प्रश्न पत्र हल करने के पहले उसमें दिये गये निर्देशों को भली भाँति पढ़ लेना चाहिए। ऐसी वृत्ति हमें गलतियों की संभावनाओं को कम करके परीक्षा में अच्छे अंक प्राप्त करने की सम्भावना को बढ़ा देती है। इसलिए हमें प्रश्न पत्र के हल करने के निर्देशों को एक बार ही नहीं वरन् जब तक भली प्रकार निर्देश समझ न आये तब तक बार-बार पढ़ना चाहिए। छात्रों को उत्तर पुस्तिका जमा करने के पूर्व 10 या 15 मिनट अपने उत्तरों को भली-भांति पढ़ने के लिए बचाकर रखना चाहिए। अगर आपने प्रश्न पत्र के निर्देशों का ठीक प्रकार से पालन किया है तथा सभी खण्डों के प्रत्येक प्रश्नों का उत्तर दिये हैं तो यह अच्छे अंक लाने में आपकी मदद करेगा।

(11) मैं यह कर सकता हूँ, इसलिए मुझे करना हैः-

माता-पिता अगर अपने बच्चों पर विश्वास जताएंगे और उनका सही मार्गदर्शन करेंगे तो छात्र तनाव से निजात पाकर परीक्षा दे सकेंगे और वे सर्वश्रेष्ठ अंकों से अपनी परीक्षा को पास कर सकेंगे। छात्रों को भी अपने आत्मविश्वास को जगाने के लिए इस वाक्य को प्रतिदिन अधिक से अधिक से दोहराना चाहिए कि ‘मैं यह कर सकता हूँ, इसलिए मुझे यह करना है’ यह छात्र जीवन में उच्च कोटि की सफलता प्राप्त करने का एक अचूक मंत्र हो सकता है। परीक्षाओं के समय यह वाक्य हमारी सुनिश्चित सफलता की सोच को विकसित करता है। यह मंत्र जीवन में पूरी तरह तभी सफल होगा जब हम अपने अंदर एकाग्रता, निरन्तर प्रयास, आत्मानुशासन तथा आत्म-नियंत्रण के गुणों को भी विकसित करेंगे।

The dates mentioned in the Time Table for the ICSE Year 2018 Examinations may be subject to change based on the declaration of the dates
by the Chief Election Commissioner of India for the States due for Assembly Elections.

INDIAN CERTIFICATE OF SECONDARY EDUCATION EXAMINATION, YEAR 2018
TIME TABLE

 

DAY AND DATE

TIME

SUBJECT

DURATION

Monday

February 26

11.00 a.m.

English Language - ENGLISH Paper 1

2 hrs.

Tuesday

February 27

11.00 a.m.

Mathematics

2.5 hrs.

Wednesday

February 28

11 .00 a.m.

Commercial Studies (Group II Elective)

2 hrs.

Monday

March 5

11 .00 a.m.

Literature in English - ENGLISH Paper 2

2 hrs.

Wednesday

March 7

11 .00 a.m.

History & Civics - H.C.G. Paper 1

2 hrs.

Friday

March 9

11 .00 a.m.

Second Languages: Ao-Naga, Assamese, Bengali, Dzongkha, Garo, Gujarati, Kannada, Khasi, Lepcha, Mizo, Malayalam, Manipuri, Marathi, Nepali, Odia, Punjabi, Sanskrit, Tamil, Tangkhul, Telugu, Urdu

Modern Foreign Languages: Arabic, Chinese, French, German, Italian, Korean, Modern Armenian, PortuQuese, Spanish, Thai, Tibetan

3 hrs.

Saturday

March 10

09.00 a.m.

Art Paper 1 (Still Life)

3 hrs.

Monday

March 12

11 .00 a.m.

Geography - H.C.G. Paper 2

2 hrs.

Wednesday

March 14

11 .00 a.m.

Hindi

3 hrs.

Friday

March 16

11.00 a.m.

Physics - SCIENCE Paper 1

2 hrs.

Saturday

March 17

09.00 a.m.

Art Paper 2 (Nature Drawing/ Painting)

3 hrs.

Monday

March 19

11.00 a.m.

Chemistry - SCIENCE Paper 2

2 hrs.

Wednesday

March 21

11 .00 a.m.

Economics (Group II Elective)

2 hrs.

Friday

March 23

11.00 a.m.

(Group III-Elective): Carnatic Music, Commercial Applications, Computer Applications , Cookery, Drama, Economic Applications, Environmental Applications, Fashion Designing, French, German, Hindustani Music, Home Science, Indian Dance, Physical Education, Spanish, Western Music, Yoga

Technical Drawing Applications

2hrs.



3 hrs.

Saturday

March 24

09.00 a.m.

Art Paper 3 (Original Composition)

3 hrs.

Monday

March 26

11.00 a.m.

Biology - SCIENCE Paper 3

2 hrs.

Tuesday

March 27

09.00 a.m.

Art Paper 4 (Applied Art)

French / German (Group II Elective)

3 hrs.

2 hrs.

Wednesday

March 28

11 .00 a.m.

Environmental Science (Group II Elective)

2 hrs.

IMPORTANT NOTES:
  • In addition to the time indicated on the Timetable for writing the paper, 15 minutes time is given for reading the question paper.
  • The question paper may be distributed to candidates at 10:45 am. to enable them to start writing at 11:00 am.

The dates mentioned in the Time Table for the ISC Year 2018 Examinations may be subject to change based on the declaration of the dates by
the Chief Election Commissioner of India for the States due for Assembly Elections.

INDIAN SCHOOL CERTIFICATE EXAMINATION, YEAR 2018
Day & Date Time Subject/Paper Duration

Wednesday, February 07

9:00 A.M.

Physics - Paper 2 (practical)

3 hrs

Thursday, February 08

9:00 A.M.

Computer Science - Paper 2 (Practical)

Planning Session

Examination Session

3 hrs

Friday, February 09

9:00 A.M.

Chemistry - Paper 2 (Practical)

3 hrs

Saturday, February 10

9:00 A.M.

Home Science - Paper 2 (Practical):Planning Session

Indian Music - Carnatic Paper 2 (Practical)

Indian Music - Hindustani Paper 2 (Practical)

Western Music - Paper 2 (practical)

1 hr

20 mins. For each candidate

20 mins. For each candidate

28 mins. For each candidate

Monday, February 12

2:00 P.M.

Physical Education - Paper 1 (Theory)

3 hrs

Tuesday, February 13

9:00 A.M.

Biology - Paper 2 (Practical)

3 hrs

Thursday, February 15

2:00 P.M.

Accounts - Paper 1 (Theory)

3 hrs

Saturday, February 17

9:00 A.M.

Home Science - Paper 2 (Practical):Examination Session

3 hrs

Tuesday, February 20

2:00 P.M.

Physics - Paper 1 (Theory)

3 hrs

Wednesday, February 21

2:00 P.M.

Sociology

3 hrs

Thursday, February 22

9:00 A.M.

Biotechnology - Paper 2 (Practical)

Fashion Designing - Paper 2 (Practical)

3 hrs

3 hrs

Friday, February 23

2:00 P.M.

Computer Science - Paper 1 (Theory)

3 hrs

Saturday, February 24

2:00 P.M.

Indian Music - Hindustani Paper 1 (Theory)

Indian Music - Carnatic Paper 1 (Theory)

Western Music - Paper 1 (Theory)

Home Science - Paper 1 (Theory)

3 hrs

3 hrs

3 hrs

3 hrs

Monday, February 26

2:00 P.M.

Mathematics

3 hrs

Tuesday, February 27

9:00 A.M.

Art Paper 2 (Drawing & painting from Nature)

3 hrs

Wednesday, February 28

2:00 P.M.

English - Paper 2 (Literature in English)

3 hrs

Monday, March 05

2:00 P.M.

Chemistry - Paper 1 (Theory)

3 hrs

Tuesday, March 06

2:00 P.M.

Political Science

3 hrs

Wednesday, March 07

2:00 P.M.

English - Paper 1 (English Language)

3 hrs

Thursday, March 08

2:00 P.M.

Fashion Designing - Paper 1 (Theory)

3 hrs

Friday, March 09

2:00 P.M.

Geography - Paper 1 (Theory)

3 hrs

Saturday, March 10

9:00 A.M.

2:00 P.M.

2:00 P.M.

Art Paper 1 (Drawing or painting from Still Life)

Geometrical & Building Drawing

Geometrical & Mechanical Drawing

3 hrs

3 hrs

3 hrs

Monday, March 12

2:00 P.M.

Commerce

Electricity and Electronics

3 hrs

3 hrs

Tuesday, March 13

9:00 A.M.

Art Paper 4 (Original Imaginative Composition in Colour)

3 hrs

Wednesday, March 14

2:00 P.M.

2:00 P.M

Biotechnology - Paper 1 (Theory)

Elective English

3 hrs

3 hrs

Thursday, March 15

2:00 P.M.

Environmental Science - Paper 1 (Theory)

3 hrs

Friday, March 16

2:00 P.M.

Indian Languages/ Modem Foreign Languages/ Classical Languages

3 hrs

Saturday, March 17

9:00 A.M.

Art Paper 3 (Drawing or Painting of a Living Person)

3 hrs

Monday, March 19

2:00 P.M.

Economics

3hrs

Tuesday, March 20

9:00 A.M.

Art Paper 5 (Crafts ’A’)

3 hrs

Wednesday, March 21

2:00 P.M.

Biology - Paper 1 (Theory)

3 hrs

Monday, March 26

2:00 P.M.

History

3 hrs

Wednesday, March 28

2:00 P.M.

Business Studies

3 hrs

Monday, April 02

2:00 P.M.

Psychology

3 hrs

IMPORTANT NOTES:
  • In addition to the time indicated on the timetable for writing the paper, 15 minutes time is given for reading the question paper.
  • The Question Papers for practical examinations may be distributed to the candidates at 8.45 A.M. to enable them to start writing at 9.00 A.M.
  • The Question Papers for theory examinations may be distributed to the candidates at 1.45 P.M. to enable them to start writing at 2.00 P.M.
  • Practical Examination of Physical Education Paper 2 may be held on any convenient day after 30th January 2018.